एक वर्ष की मासूम के साथ दुराचार के मामले में अभियुक्त को बीस वर्ष का कारावास

RAJNITIK BULLET
0 0
Read Time2 Minute, 57 Second

(बीके सिंह) सीतापुर। न्यायालय विशेष न्यायाधीश (पाक्सो) द्वारा एक वर्ष की मासूम के साथ दुराचार के मामले में अभियुक्त को बीस वर्ष के सश्रम कारावास तथा पचास हजार रूपए के अर्थ दण्ड से दंण्डित किया गया।
थाना तम्बौर सीतापुर के रामराय मडोर निवासिनी गुड्डी देवी ने बताया कि वह अपने मायके काजीपुर थाना बिसवां में अपनी एक वर्षीया पुत्री के साथ रह रही है। 02 फरवरी 2015 को 12 बजे गांव का सुनील कुमार उसके पास आकर पुत्री को खिलाने के बहाने उससे मांग ले गया तथा गांव के बाहर अपनी कुटिया में उसकी पुत्री के साथ बुरा काम किया तथा भाग गया उसका भतीजा अंकित उसकी पुत्री को उठाकर लाया और पुत्री का काफी खून बह रहा था। भतीजा ने सारी बात गुड्डी देवी को बताई और सुनील कुमार को तलाशने पर वह नहीं मिला। पुलिस को सूचना के आधार पर मु0अ0सं0- 29/2015 अंतर्गत धारा 376 भा0द0सं0 व 4 पाक्सो एक्ट व 3(2) 5 एस0सी0/एस0 टी0 एक्ट विचारण के लिए न्यायालय प्रेषित किया गया। अभियोजन पक्ष के साक्ष्य के साथ बचाव पक्ष ने भी अपनी दलील प्रस्तुत किए। जिसके आधार पर न्यायालय द्वारा उक्त घटना के सम्बन्ध में विचारण करते हुए आदेश पारित किया गया। न्यायालय विशेष न्यायाधीश (पाक्सो) द्वारा अभियुक्त सुनील कुमार को 4 लैगिंक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम में बीस वर्ष के सश्रम कारावास व 50 हजार रूपए के अर्थदण्ड से दंण्डित तथा अर्थदण्ड अदा करने पर विफल रहने पर एक वर्ष के अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतने का आदेश दिया गया। साथ मुकदमें में जेल में काटी गई सजा को इस सजा में समायोजित किया गया। अर्थदण्ड से अधिरोपित धनराशि में से 25 हजार रूपए प्रश्नगत प्रकरण की पीड़िता को प्रतिकर के रूप में उसकी पहचान सुनिश्चित करने के लिए पश्चात प्रदान करने का निर्णय दिया गया। अभियोजन पक्ष की पैरवी विशेष लोक अभियोजक गोविन्द मिश्र द्वारा की गई।

Next Post

36 वर्षीय दिव्यांग पप्पू ने नसबंदी अपनाकर पेश की मिसाल

(बीके […]
👉