पति ने बेटे की चाह में पत्नी व दो मासूम बेटियों को घर से भगाया

RAJNITIK BULLET
0 0
Read Time3 Minute, 45 Second

(प्रेम वर्मा) दही-उन्नाव। योगी सरकार जहाँ महिलाओं के सुरक्षा को लेकर सख्त नजर आ रही है वही पुरवा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में एक महिला को दो बेटियां हुई, बेटा न होने पर उसके पति व ससुरालीजनों ने मिलकर मारा पीटा और जान से मार देने की धमकी देते हुए घर से निकाल दिया है। पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।
प्राप्त विवरण के अनुसार पीड़ित महिला रानी ग्राम कुमेदान खेड़ा थाना दही जिला उन्नाव की निवासिनी है। जिसकी शादी करीब 07 वर्ष पहले लक्ष्मीकान्त पुत्र रामआसरे निवासी जगेथा मजरा तौरा, थाना पुरवा जिला उन्नाव के साथ हिन्दू रीति रिवाज के अनुसार सम्पन्न हुयी थी। शादी में पीड़ित के पिता ने अपनी हैसियत के अनुसार दान दहेज दिया था। शादी के बाद से ही महिला के पति लक्ष्मीकान्त, ससुर रामआसरे, सास रामकली कम दहेज देने का ताना देना शुरू कर दिया और कहने लगे कि एक मोटर साईकिल व मु0- 50,000/- रू0 की व्य वस्था कराओं। पीड़िता ने अपने मायके आकर सारी बात अपने माता पिता से बतायी महिला के पिता ने ससुराली जनों को समझाया बुझाया और प्रार्थिनी को बराबर ससुराल भेजते रहे तथा ससुरालीजन दहेज को लेकर महिला को गाली गलौज कर तरह-तरह से प्रताड़ित करते रहे तथा जान से मारने की धमकी देते रहे। पीड़िता भविष्य में रिश्ता सुधर जाने की आशा से ससुरालीजनों की प्रताड़ना बर्दास्त करती रही।
फिर भी अपनी ससुराल 07 वर्ष तक आती जाती रही इस मध्य दोनो के संसर्ग से दो पुत्रियों का जन्म हुआ। पुत्रियों का जन्म होने के बाद महिला का पति पीड़िता को और प्रताड़ित करने लगा कि तुमने लड़किया पैदा की है लड़के नहीं इसलिए मै तुमको छोड़कर दूसरी शादी कर लूँगा। पीड़िता के पिता की मृत्यु काफी पहले हो चुकी थी तथा भाई लोग अलग रहते है, तथा पीड़िता की मां की मृत्यु एक माह पूर्व हो चुकी है। महिला को करीब 20 दिन पहले उक्त ससुराली जन मारपीट कर समस्त जेवर कपडे़ छीनकर पहने हुये कपड़ों में दोनो पुत्रियों सहित घर से भगा दिया और धमकी दिया कि जब तक उक्त अतिरिक्त दहेज की पूर्ति नहीं कराओगी तब तक मैं तुम्हें अपने घर में नहीं रखूँगा और दूसरी शादी कर लूँगा। प्रार्थिनी की आय का कोई जरिया नहीं है। वह अपनी बहन दुलारी के यहाँ रह रही है। पीड़िता ने उक्त घटना के सम्बन्ध में थाना पुरवा में प्रार्थना पत्र दिया था उस पर कोई कार्यवाही न होने पर पीड़ित महिला को विवश होकर पुलिस अधीक्षक उन्नाव को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।

Next Post

स्वर्गीय अखिलेश सिंह की जिम्मेदारियों को अब उनकी बहन पूनम सिंह उठाएंगी

(चन्द्रेश […]
👉